Pulse Oximeter क्या होता है? यह कैसे काम करता है? इसका उपयोग कैसे करें?

pulse oximeter kya hota hai in hindi
भारत में आई कोरोना की दूसरी लहर में हमारी स्वास्थ्य व्यवस्था भी कमजोर पड़ गई है। ऐसे में अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की कमी के कारण अनेकों लोगों को होम आइसोलेशन ( Home Isolation ) में रखना पड़ रहा है।
Home Isolation में रहने वाले लोगों के लिए समय-समय पर अपना ब्लड ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल ( Blood Oxygen Saturation Level ) मापने के लिए पल्स ऑक्सीमीटर ( Pulse Oximeter ) का उपयोग किया जाता है।
आज मैं आपको बताने वाला हूं कि पल्स ऑक्सीमीटर ( Pulse Oximeter ) क्या होता है? यह कैसे काम करता है? इसका उपयोग कैसे करें? पल्स ऑक्सीमीटर की रीडिंग कैसे पढ़ें? और भी बहुत कुछ आप इस ब्लॉग में जानेंगे…

 

Pulse Oximeter क्या होता है?

यह एक क्लिप के जैसी Electronic device होती है, जो हमारे शरीर में ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल या ब्लड ऑक्सीजन  को मापती है। इसके अलावा यह हार्ट रेट ( Heart Rate ) भी बताती है। इस device को हाथ की या पैर की उंगली या ईयरलोब ( Earlobe ) ( कान का नरम वाला हिस्सा ) पर लगाने से यह हमारे रक्त में ऑक्सीजन के लेवल को बताता है। हमारे रक्त में RBC (Red Blood Cells) कितनी ऑक्सीजन को हमारे हृदय से शरीर के दूसरे भागों में ले जा रही है। यह एक फोटो इलेक्ट्रिक उपकरण होता है जो हमारे हार्ट रेट ( Heart Rate ) भी बताते है।

 

Pulse oximeter कैसे काम करता है?

पल्स ऑक्सीमीटर को जब हम अपने हाथ की या पैर की उंगली या ईयरलोब ( Earlobe ) ( कान का नरम वाला हिस्सा ) पर लगाते हैं तो इसमें लगे सेंसर एक लाइट बीम (Light Beam) को हमारी उंगली की त्वचा पर डालते हैं। जब सेंसर की यह किरणें हमारे शरीर में प्रवाहित रक्त से गुजरती है तो यह हमारे शरीर में RBC (Red Blood Cells) या लाल रक्त कणिकाओं के मूवमेंट और रंग को मापते हैं और यही Light Beam हमारे रक्त में ऑक्सीजन के level को मापती है। यह डिवाइस Oxygenated और Non-Oxygenated रक्त के द्वारा प्रकाश के अवशोषण में जो परिवर्तन आता है उसको माप कर हमें रक्त के ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल को डिस्प्ले पर दिखाता है।

 

Pulse Oximeter को कैसे उपयोग करें?

Pulse oximeter से सही Oxygen Saturation Level और Heart Rate जानने के लिए यह जरूरी है कि हम इसे सही तरीके से उपयोग करें। इसके अलावा कुछ सावधानियां रखना भी जरूरी होता है-
  1. सबसे पहले तो पल्स ऑक्सीमीटर का उपयोग करने के 10 min. पहले आपको कोई भी काम नहीं करना है। 10 मिनट तक आराम की स्थिति में रहने के बाद आपको इसे उपयोग करना है।
  2. पल्स ऑक्सीमीटर को आप अपने हाथ की इंडेक्स फिंगर (Index Finger – अंगूठे के बगल वाली उंगली), बीच की उंगली या इयर लोब ( Ear lobe – कान का नर्म हिस्सा ) पर उपयोग करने से ज्यादा अच्छे परिणाम मिलते हैं। हालांकि आप इसे हाथ की किसी भी उंगली पर और पैर की उंगली पर भी लगा सकते हैं।
  3. Pulse Oximeter को हाथ की उंगली पर लगाने पर उंगली का 1/3 भाग device के अंदर होना चाहिये
  4.  पल्स ऑक्सीमीटर लगाने के दौरान आपको अपने शरीर में कोई भी हलचल नहीं करनी है।
  5. अगर आप पल्स ऑक्सीमीटर को अपने हाथ की उंगली पर उपयोग कर रहे हैं तो आपके नाखूनों में नेल पेंट ( Nail Paint ) नहीं लगा होना चाहिए। इससे पल्स ऑक्सीमीटर की रीडिंग सही नहीं आती है। क्योंकि यह की सेंसर से निकलने वाली Light beam को रोकती है।
  6. अगर आपके हाथों में मेहंदी लगी हुई है तो भी पल्स ऑक्सीमीटर आपको blood oxygen level की सही जानकारी नहीं दे पाता है।
  7. pulse oximeter को दिन में कम से कम 3 से 4 बार उपयोग करना चाहिए।

 

Blood Oxygen Saturation Level कितना होना चाहिये?

पल्स ऑक्सीमीटर का उपयोग करने से पहले यह जानना बहुत जरूरी है कि एक स्वस्थ व्यक्ति का ऑक्सीजन लेवल कितना होना चाहिए। जिससे कि हम पल्स ऑक्सीमीटर को सही तरीके से उपयोग कर पाएं। डॉक्टरी सलाह के अनुसार एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर का pulse oximeter में ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल ( oxygen saturation level ) 95 se 100% होना चाहिए। अगर आपका oxygen label 95% से नीचे है तो यह खतरे की निशानी है। अगर आपका ब्लड ऑक्सीजन लेवल 92 से 95% के अंदर है, तो आपको सचेत हो जाना चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। मनुष्य का Oxygen saturation level 90 % नीचे नहीं होना चाहिये।

 

Pulse oximeter की Reading कैसे पढें?

पल्स ऑक्सीमीटर की डिजिटल स्क्रीन पर SpO2 ब्लड ऑक्सिजन सेचुरेशन लेवल (Blood oxygen saturation level) की जानकारी के अलावा यह हमें PR (पल्स रेट Pulse Rate) या (हार्ट रेट Heart Rate) की जानकारी भी दिखाता है। इसका मतलब है कि हमारी हार्ट रेट या पल्स रेट कितनी है? एक स्वस्थ व्यक्ति की Heart rate, 60 se 100 beat प्रति मिनट होती है। इसके अलावा Pulse wave भी होती है जो हमारे ब्लड के ऑक्सिजनेटेड ( Oxygenated ) और नॉन ऑक्सिजनेटेड ( Non-Oxygenated ) रक्त कोशिकाओं ( Blood Cells ) के द्वारा अवशोषित की गई इंफ्रारेड लाइट ( Infrared Light – IR ) और रेड लाइट ( Red Light ) के बारे में जानकारी देती है। हालांकि इस Pulse wave की reading ही हमें Spo2 % के रूप में दिखती है। 

 

Pulse Oximeter कहां से खरीदें?

जब भी पल्स ऑक्सीमीटर खरीदें ध्यान रखें कि वह अच्छी कंपनी का हो Dr trust, Dr care, Beurer, BPL, Impulse जैसी कंपनियों के पल्स ऑक्सीमीटर अच्छे होते हैं। इनकी कीमत ₹1000 से ₹5000 तक हो सकती है आप नीचे दी हुई लिंक से उन्हें खरीद सकते हैं।

Best Pulse Oximeter Under 2000

सारांश

कोरोना के इस कठिन दौर में Home Isolation में रहने वाले सभी लोगों के लिए पल्स ऑक्सीमीटर बहुत आवश्यक है। COVID patient के लिए यह बहुत जरूरी है कि वह दिन में 3 से 4 बार अपने ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहें। इस ब्लॉग की सहायता से आप जान चुके हैं कि आप पल्स ऑक्सीमीटर को कैसे बेहतर तरीके से उपयोग कर सकते हैं और सही ऑक्सीजन लेवल ( Spo2 ) और पल्स रेट ( PR ) की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
आपको हमारा ब्लॉग कैसा लगा कमेंट करके हमें जरूर बताइएगा। आप हमें Facebook, Instagram, Twitter और YouTube पर भी फॉलो कर सकते हैं।

धन्यवाद।

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *